Kinds of Degree(डिग्री के प्रकार)

Kinds of Degree(डिग्री के प्रकार)

Posted by

Degree किसी भी Noun या Pronoun की विशेषता बतानेके तीन रूप होतेहैं। इन्ही रूपों को Degree Of Adjective
कहतेहैं।

1. Positive Degree( सामान्य अवस्था)
2.Comparative Degree(तुलनात्मक अवस्था)
3. Superlative Degree(सर्वोत्तम अवस्था)

1. Positive Degree(सामान्य अवस्था)- Adjective का मूल रूप Positive degree मेंहोता है। यह किसी Noun
या Pronoun का सामान्य गुणगु दोष बताता है।
जैसे
(i) Ram is a good boy.
(ii) Rahul is a beautiful boy.

2. Comparative Degree(तुलनात्मक अवस्था)- Adjective के मूल के रूप में ‘er’ या उसके पूर्व ‘more’ लगाकर
Comparative Degree बनती हैतथा इसका प्रयोग दो Noun या Pronoun के गुणों गु की तुलना करनेके लिए होता है।
जैसे
(i) राहुल हरी सेअच्छा है। (Rahul is better than Hari. )
(ii) राधा श्याम सेअधिक सुन्दर है। (Radha is more beautiful than Shyam.)

3. Superlative Degree(सर्वोत्तम अवस्था)- Adjective के मूल रूप में ‘est’ या उसके पूर्वरूप में ‘most’ लगाकर
Superlative Degree बनातेहैं। इसका प्रयोग दो Noun या Pronoun मेंसेएक को सर्वश्रेस्ठ या निकृष्टतम अतनेके
लिए होता है।
जैसे
(i) Rahul is the best boy in the class.
(ii) Rahul is the most beautiful boy among all.
Positive Degree से Comparative Degree और Superlative Degree बनानेके नियम-
अधिकांश Adjective में er लगाकर Comparative Degree तथा est लगाकर Superlative Degree बनातेहैं।

Positive            Comparative        Superlative
Deep(गहरा)          Deeper                  Repeat      Great(महान)        Greater                  Greatest
Long(लंबा)            Longer                   Longest
Small(छोटा)          Smaller                  Smallest
Old(पुराना)             Older                      Oldest

Leave a Reply

Your email address will not be published.